"दादी माँ के 8 खास घरेलू नुस्खे(dadi maa ke ghrelu desi nuskhe in hindi)"

  आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में हम इतने व्यस्त हैं कि  अपने स्वास्थ्य का ध्यान रख पाना ज्सिसे मुश्किल हो गया है। और उस पर आज का खान पान जैसे हमारा दुश्मन बन गया है, हम चाहे कितना भी चौकस रह लें फिर भी आज का भोजन जो पेस्टिसाइड्स से भरा पड़ा है हमे प्रभावित कर ही रहा है।
ऐसे में हमे हर वक़्त दवा का सहारा लेना पड़ता है और उस पर अगर हम अपना इलाज ऐलोपैथी से करा रहे हैं तो उसका साइड इफ़ेक्ट हम पर और भी कुप्रभाव डाल  रहा है। वैसे भी आज का हर इंसान आयुर्वेद का रुख कर रहा है.
क्योंकि आयर्वेद असली स्वास्थ्य का खजाना है और इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं। ये सस्ते भी हैं और हमे हमारी रसोई में ही मिल जाते हैं। जिस कारण हम तुरन्त अपना इलाज कर सकते हैं।
आज फिर एक बार हम हर जगह सुकून पाने के लिए दादी माँ के नुस्खे ढूंढने लगे हैं। अगर समय रहते हम अपनी बीमारी पकड़ लेते हैं और उसका सही लाभप्रद ईलाज कर लेते हैं तो  दुःखी नहीं होना पड़ता। 

आपने एक दोहा तो सुना ही होगा-

सतसईया के दोहरे, 

ज्यों नाविक के तीर देखने में छोटे लगें, 

घाव करें गम्भीर 

 

"दादी माँ के 8 खास घरेलू नुस्खे(dadi maa ke ghrelu desi nuskhe in hindi)" 

 

आइये आज मैं आपको कुछ खास परीक्षित नुस्खे जो उपयोग किये गए हैं और जिनका भरपूर फायदा मिला है वो बताती हूँ-

  1. दाँत का दर्द:-

एक साफ़ धुले हुए चोकोर आकार के कपड़े में लहसुन की ५-६ कलियाँ छील  रखें और कपड़े को लपेट कर इस पर पानी के छींटे मार कर कूट लें। इसकी छोटी सी पोटली बना कर नाक के पास लेकर खूब तेज सांस खींचे और ३-४ मिनिट तक सांस खींचते रहें। ऐसा करने से दाँत का दर्द चुटकी में गायब हो जायेगा।

  2. कब्ज का नाश:-

छोटी हरड़ १०० ग्राम कूट पीस कर महीन चूर्ण बना लें। छानकर दुबारा पीसें, ताकि महीन चूर्ण बन जाये। दोनों वक़्त के भोजन के बाद आधा चम्मच पानी के साथ ले लें। लाभ ना होने तक ये जारी रखें। सुबह शाम २-३ किलोमीटर की टहलना चाहिए। इसका लाभ अवश्य मिलेगा।

3. आधासीसी (आधे सिर का दर्द):- 

आक या मदार के बड़े पत्तों के बीच छोटे पत्ते भीहोते हैं, उन पत्तों का जोड़ा यानि दो पत्ते सूर्योदय से पहले तोड़ लें और गुड़ में लपेट कर सूर्योदय से पहले ही निगल लें। तीन दिन ये प्रयोग करें, अवश्य लाभ होगा। इस प्रयोग में आपको ये सावधानी रखनी होगी कि इसे सूर्योदय से पहले ही करें वरना कोई लाभ नहीं होगा। 

अ) दस ग्राम काली मिर्च लेकर उसे चबा लें, ऊपर से २०-२५ ग्राम देसी घी पीने से आधासीसी का दर्द खत्म होता है, 

ब) अगर आप भोजन के वक़्त रोजाना २ चम्मच शाद प्रयोग करें तब भी इस रोग से निजात पा सकते हैं।  

स) अपने दोनों नथुनों में १-१ बून्द शहद डालें और उसे ऊपर सुंते तो भी आधासीसी में आराम मिलता है।

4. नजला, जुकाम में आराम:-

  • ४ बून्द अमृतधारा,
  • भुने चने का छिलका उतरा आटा २० ग्राम,
  • रबड़ी या मलाई २० ग्राम,
  • थोड़े शहद में मिलाकर रात को कुछ दिन तक खाने से नया पुराना नजला ठीक होता है, 

 5. साइनस का सिरदर्द:-

  • ११ मिश्री के टुकड़े,
  • ११ तुलसी की पत्तियां,
  • ११ काली मिर्च और २ ग्राम अदरक को २५० ग्राम  पानी में उबालें,
  • ये पानी इतना उबालें कि आधा रह जाये और फिर इसे छान कर गर्म गर्म ही सुबह खाली पेट सेवन करें।
  • इसके पिने के उपरांत २ घण्टे तक स्नान ना करें, और इसे लगातार तीन दिन तक करें और लाभ पाएं।

6. मोटापे से निजात:-

निम्न बताया गया जूस पीने से आप मोटापे के दूर भगा सकते हैं, इसमें प्रयोग हर चीज घर ही होती है। आये जानें ये जूस कैसे बनाएं-

सामग्री:-

  • १ निम्बू काटा हुआ,
  • १ गिलास पानी,
  • १ खीरा,
  • १ चम्मच अदरक पीसा हुआ,
  • १ चम्मच ऐलोवेरा जूस,थोड़ीमात्रा में हर धनिया।
  • इन सब चीजों को एक साथ ग्राइंडर में डालकर पीस लें, इसका सेवन रात को सोने से पहले करें। ये जूस आपके पेट की चर्बी को खत्म करता है, और ये आपके मेटाबोलिज्म की गति को बढाता है। इसे रोजाना पीजिये औए इसका सुखद परिणाम देखिये।

 7. चक्कर का ईलाज :

  1. चक्कर  आने की स्थिति में तुलसी के रस में चीनी मिलाकर सेवन करें या तुलसी के पत्तों में शहद मिलाकर चाटने से चक्कर आना बन्द हो जाता है।

  2. आधा  गिलास पानी में २ लौंग डालकर उसको उबाल लें, इस पानी को पी लें, इससे चक्कर में लाभ होता है।

8. साँसों को महकाएं:

कुछ लोगों के मुह से बहुत बदबू आती है, भरपूर मात्रा में अगर पानी ना पिया जाये तब भी ये दिक्कत आ सकती है।  इस कारन हमे शर्म महसूस होती है, लोग हमसे दूर होकर बात करते हैं। इससे छुटकारा पाने के तरीके निम्न है-

  • इलायची, दालचीनी और सुखी पुदीना पत्ती पानी में घोलकर गरारे करें और दुर्गन्ध से बचें।
  • इलायची चबाना भी दुर्गन्ध रोकता है, एक कप पानी में जीरे के तेल की बुँदे डालकर गरारे करने से लाभ होता है।
  • सोने से पहले मंजन अवश्य करें, भोजन हमेशा हकम होने वाला करें।
  • नीम या बबूल की डाली जो नरम हो उसका ब्रश बनाकर अपने दांत साफ़ करें इससे बदबू से छुटकारा पाएं।
  • ५ ग्राम सौंफ या धनिया चबाने से मुंह सुध होता है और बदबू से निजात मिलती है।

आपको ये जानकारी कैसी लगी, आप अपने सुझाव और comments अपने अवश्य दें, मुझे उनका इन्तजार रहेगा। 

 

 

 

 

 

 

 

 

Advertisements

7 thoughts on “"दादी माँ के 8 खास घरेलू नुस्खे(dadi maa ke ghrelu desi nuskhe in hindi)"

  1. @Savita Shetty
    जी आपका शुक्रिया आपका
    ऐसे ही मेरा उत्साह बढ़ाते रहें. मैं आपके लिए ऐसे ही ज्ञानवर्धक पोस्ट लाती रहूंगी.

    Liked by 1 person

  2. Pingback: "सरसों के तेल के 10 खास उपयोग" | "हिंदी में सब-कुछ "

  3. Pingback: Isabgol (Psyllium Husk) Health Benefits in Hindi | "हिंदी में सब-कुछ "

  4. Pingback: "मेथीदाने (Fenugreek) के लाभकारी फायदे- Benefits Of Methi seeds(Fenugreek) In Our Health" | "हिंदी में सब-कुछ "

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.